EPF kya hai – Explained in hindi

0
696
EPF
epf

EPF

Epf हमारा कितना पैसा काटती है और कंपनी कितना पैसा खुद डालती है ? क्या epf टैक्स फ्री है? Epf की calculation कैसे होती है? क्या ये रिस्क फ्री है ? PF कितने दिनों में सेटलमेंट करता है ? Epf में हमारे जमा पैसे हम कब निकाल सकते है? इन सब सवालो के जवाब जानेंगे हम आज के इस ब्लॉग में तो आज का ब्लॉग आपके लिये जो employee है जॉब करते है उनके लिए बड़ा ही महत्वपूर्ण होने वाला है तो जानते है epf के बारे में ।

Epf क्या है-

EPF की स्कीम 1952 में शुरू हुई थी। मुख्य तौर पर प्राइवेट के लिए है। इसको हम employee provident fund भी कहते है । जिन कंपनी में कर्मचारी तनख्वाह लेते है उनकी तनख्वाह का कुछ हिस्सा 1800 या 12% तनख्वाह से कटता है या कुछ कंपनी अपने कर्मचारियों को ऑप्शन दे देती है या आप 1800 रुपया फिक्स कटवा सकते है या सैलरी का 12%। जिन कंपनी में 20 या 20 से ज्यादा कर्मचारी होते है उन्हें epf अपने कर्मचारियों को देना पड़ता है।

office work

Tax benifit

यहाँ पे आपको tax का पूरा benifit मिलता है। आपके जब पैसे जमा होते है, जितनी आपको ब्याज मिलती है , और जब आप पैसे निकलते हो इन सब में under section 80c के तहत आपको 1.5लाख तक आपको tax में पूरा फायदा मिलता है।

एक बात सब कर्मचारियों के लिए ध्यान देने वाली है की यदि आप 5 साल से पहले पैसे निकलते है तो आपको टैक्स का कोई भी benifit नहीं मिलेगा।

यदि आपके  खाते के साथ पैन कार्ड attach नहीं है आप 50000 से ज्यादा पैसे निकलवा रहे हो 15g/15h फॉर्म के बगैर उस केस में आप को TDS 34.60% लगेगा। यदि आप 50000 से कम पैसा निकलवाते है तो आपको TDS नहीं देना पड़ेगा।

कंपनी अपनी तरफ से आपके अकाउंट में कितना पैसा डालती है-

यह प्रश्न हर कर्मचारी के मन में होता है कि हमारा actual में कितना पैसा कट रहा है और कंपनी कितने रुपए उसमे डालती है। कंपनी आपकी सैलरी से 12% हर महीने काटती है और अपनी तरफ से कंपनी

कंपनी के मालिक pf में 3.67%

कंपनी के मालिक eps(पेंशन फण्ड) में 8.33%

EDLI(employee deposit link insurance) 0.50%

Administration charges 0.5%

ये पैसा कंपनी अपनी तरफ से डालती है और साथ में अकाउंट mantainance और insurance के पैसे भी कंपनी अपनी तरफ से देती है। हम ऐसा कह सकते है कि 12% emplyee शेयर और 13% employer का शेयर होता है
कुछ कंपनी fix 1800 epf काटती है उस केस में भी कंपनी के मालिक epf में 3.67% और 8.33% पेंशन फण्ड में डालती है।https://www.tarunblogs.com

EPF
EPF

UAN –

UAN मतलब universal account number. जब आप किसी कंपनी में काम कर हो वहाँ आपको UAN दिया जाता है ,यह 12 अंको का नंबर होता है। जब आप किसी कंपनी को छोड़ देते हो तब आप यही UAN NUMBER को TRANSFER भी कर सकते है । UAN की मदद से आप ONLINE पोर्टल से बैलेंस चेक कर सकते है।

Interest rate

यहाँ पे आपको फिक्स interest rate मिलता है यदि हम पिछले 5 वर्षों के interest rate की बात करे तो इस प्रकार है –

2015-16. 8.80%

2016-17. 8.65%

2017-18. 8.55%

2018-19. 8.65%

2019-20. 8.65%

Epf आपको एक अच्छा रिटर्न देता है। यह आपके लंबे समय की बहुत अच्छी इन्वेस्टमेंट है।

Withdrawal

आप पैसे को ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरह से निकाल सकते है । यदि आप ऑनलाइन पैसे withdrawn करते है तो आपकी settlement 6-7 दिन में हो जाती है । आप umang application से भी अपना epf claim कर सकते है। यदि आप pf ऑफलाइन apply करते है तो 25- 30 दिन का समय लगता है।

Balance Check

आप epf का बैलेंस चेक umang app,  online भी चेक कर सकते है इसके लिए आपको आपका universal account number चाहिये। इसके अलावा आप 011-22901406 पे मिस कॉल कर के आपको अपने बैलेंस का text massage से पता चल जायेगा।

यदि आप nps यानि national pension scheme के बारे में जानना चाहते है तो इस लिंक पर क्लिक करे https://tarunblogs.com/pns-national-pension-scheme-%e0%a4%b9%e0%a4%bf%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a5%80-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82/

अगर आप मुझसे कोई सवाल पूछना चाहते है या आप मुझे कोई सुझाव देना चाहते है तो आप मुझे facebook पर फॉलो कर सकते है आप मुझे कमेंट कर सकते है या आप मेरी वेबसाइट भी विजिट करे http://TARUNBLOGS.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here